Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

अब्बू का बेलगाम लण्ड-6

indian sex stories मेरी शादी का एक महीना ही हुआ था की एक दिन मेरा मियां बोला सज्जो चलो तुम्हे एक पार्टी में ले चलता हूँ। मैं ख़ुशी ख़ुशी उसके साथ चल पड़ी। मैं कार में बैठी हुई उसके साथ जा रही थी । रास्ते में वह बोला देखो सज्जो हम जहाँ जा रहे है वहां एक सेक्स पार्टी है जिसमे लोग अपनी अपनी बीवियों के साथ आते है। फिर लोग दूसरों की बीवियों से बातें करते है और बीवियां भी दूसरे मर्दों से बात करती है। इसलिए तुम भी सभी मर्दों से खुलकर बातें करना, वे गन्दी और अश्लील बातें करें तो तुम भी गन्दी और अश्लील बातें करना, वे गाली देकर बातें करें तो तुम भी गाली देकर बातें करना, वे तुम्हारे कपडे उतारें तो तुम भी उनके कपडे उतारना, वे तुम्हे तुम्हे बिलकुल नंगी कर दे तो हो जाना नंगी शर्माना नहीं और फिर तुम भी उनको बिलकुल नंगा कर देना, वे तुम्हारी चूंचियां पकड़ें तो तुम उनके लण्ड पकड़ लेना ? मैं भी ऐसा ही करूंगा। मै बीवियों को नंगी करूंगा और उनकी चूंचियां पकडूँगा। तुम भी मर्दों को नंगा करना और उनके लण्ड पकड़ लेना ?

देखो यहाँ पर लोग एक दूसरे की बीवियां चोदेंगे । बीवियां एक दूसरे के मियां से चुदवायेंगी। मैं भी दूसरों की बीवियां चोदूंगा और तुम भी दूसरों के मियां से चुदवाना। न शर्माने की जरुरत है और न झिझकने की ? आगे बढ़कर सबके लण्ड पकड़ पकड़ कर चाटना चूसना और फिर मजे से चुदवाना जैसे तुम मुझसे घर में चुदवाती हो ?
मैं यह सुनकर बेहद खुश हुई। कहते है न खुदा जब देता है तो छप्पर फाड़ कर देता है ?
मैंने तो एक पराये मर्द के लण्ड की दुआ की थी खुदा तो मुझे झोला भर के लण्ड देने जा रहा है
दरअसल, मैं दुनिया में अगर किसी से सबसे ज्यादा मोहब्बत करती तो वह है लण्ड ? मेरे हाथ में टन टनाता हुआ लण्ड आता है, मेरी आँखों के सामने जब टन टनाता हुआ लण्ड दिखाई पड़ता है तो मैं सारी दुनिया भूल जाती हूँ। मैं १९ साल की उम्र से लण्ड पकड़ती आ रही हूँ ? न जाने कितने और कितने तरह के लण्ड पकड़ चुकी हूँ मैं ? आज मुझे ५ साल हो गये लण्ड से प्यार करते करते ? फिर भी मन नहीं भरा ? मुझे जितने लण्ड मिलते है मैं उतने ही और लण्ड की तलास में रहती हूँ। मैं मन में सोंचने लगी की आज मैं मियाँ के साथ ग़ैर मर्दों से चुदवाने जा रही हूँ तुम देखना ऐसा कोई लण्ड नहीं छोडूंगी जिसे मैं न पकडूँ , जिसे मैं अपनी चूत में न घुसेड़ूं ? मैं सबके लण्ड चोदूंगी और सबके लण्ड से चुदवाऊँगी ? कार जैसे जैसे आगे बढ़ रही थी वैसे वैसे ही मेरे दिल की धड़कन बढ़ रही थी। मेरे मन के लड्डू फूट रहे थे की आज मुझे कई लौड़ों के दीदार होंगे ? आज मैं कये लण्ड अपनी चूत में पेलूँगी ? आज मुझे गैर मर्दों से चुदवाने का मौक़ा मिलेगा ? मैं तो वाकई बड़ी नसीबवाली हूँ।
जहाँ मैं पहुंची वहा एक बहुत बड़ा हाल था और लोग सभी जोड़े से थे। दिवार पर एक पोस्टर टेंगा था उसमे लिखा था –
(१) अपनी बीवी चुदाओ, सबकी बीवी चोदो ? लाओ मैं पकड़ के देखती हूँ।
(२) परायी बीवियों की चूंची पकड़ो, पराये मर्दों के लण्ड पकड़ो
(३) बीवियां खूब गालियां दे और मर्द उसका मज़ा लें
मैं तो पढ़ कर बहुत खुश हो गयी लेकिन मेरी बुर में आग लग गयी बहन चोद। मैंने देखा की घूम घूम लोग दूसरों की बीवियों से खूब बातें कर रहे है और बीवियां भी बुर चोदी खूब हंस हंस कर बातें कर रही है । मैं थोड़ा नजदीक गयी तो सुनाई पड़ा —- भोसड़ी के आजकल तेरा लौड़ा कुछ ज्यादा ही मोटा होने लगा है – आज तूने अगर मेरी बुर में लौड़ा नहीं पेला तो मैं तेरी माँ चोद दूँगी – हाय सोफिया आज तू दो दो लण्ड पेलेगी अपनी चूत में क्या – तेरी बहन का भोसड़ा वो तो साली हर रोज़ आती है यहाँ चुदवाने – आजकल तेरा लण्ड मेरी बेटी की बुर चोदने लगा है – अंकल एक दिन मेरे घर आकर मेरी माँ चोदो प्लीज – आज मैं अपनी सास की झांटें उखाड़ कर आ रही हूँ – आज तो मैं सबसे पहले तेरे हसबैंड से जी भर के चुदवाऊँगी ,,,,,,,,,?
बस मैं भी बेशर्मी दिखाने लगी और मर्दों से खुले आम बातें करने लगी और गालियां देने लगी। अरे जा मादर चोद देखती हूँ तेरे लण्ड में कितना दम है — तेरी तो आज मैं गांड मारूंगी साले — हा हां चुदवा लूंगी लेकिन तेरे लण्ड में ताकत है न — वाओ, इतना मोटा है तेरा लण्ड लाओ पहले पकड़ के देखती हूँ मैं — पहले मेरी बुर चाटो भोसड़ी के — माँ चुदा के आया है तू यहाँ सबकी बीवियां चोदने ?
मुझे लगा की मैं ज़न्नत में आ गयी हूँ।

तब तक मैंने देखा की मेरा मियां किसी की बुर चोद रहा है। बस उसे देखते ही मेरी चूत की आग और भड़क गयी। मैंने भी बगल में खड़े आदमी का लौड़ा प पकड़ लिया और उसे मुंह में लेकर चूसने लगी। एक लड़का और खड़ा था उसका भी लण्ड दूसरे हाथ से पकड़ा और सहलाने लगी। मैंने शुरुआत में ही दो दो लण्ड से चुदाना शुरू किया तो मेरी मस्ती का ठिकाना न रहा। एक लण्ड मुंह में और एक लण्ड बुर में ? मैं लण्ड बदलकती गयी और चुदवाती गयी। हर नये लण्ड का नया मज़ा लेती गयी। एक एक करके सबके लण्ड पीती गयी और चुदवाती गयी। मैं भूल गयी की मुझे कोई देख रहा है या फिर मेरी कोई वीडियो बना रहा है। मैं तो बस चुदवाने में मशगूल थी और लण्ड का मज़ा लूटने में व्यस्त थी।
मेरे अज़ीज़ दोस्तों, मेरा नाम है साजिया लेकिन लोग मुझे प्यार से सज्जो कहते है। मेरी अम्मी है शकीला और मेरे अब्बा का नाम है ज़हीर अब्बास लेकिन वो अब्बास के नाम से ज्यादा जाने जाते है। मेरे घर में सब लोग आज़ाद है। मैं जबसे जवान हुई तबसे मेरे ऊपर की पाबन्दी हटा ली गयी। मेरे अब्बा गालियां खूब देते है। गालियों से बात करते है और मेरी अम्मी तो उससे बढ़ कर है। मैं दिन भर इन दोनों की गालियां खूब सुनती हूँ और मैं भी उसी तरह गालियां देने लगी। मेरी २० साल की उम्र से अम्मी मुझसे खुल कर बात करने लगी। एक दिन बोली तू भोसड़ी की सज्जो आजकल लड़कों के बीच ज्यादा घूमा करती है ? कहीं कोई चक्कर तो नहीं है बहन चोद ? मैंने कहा नहीं अम्मी कोई चक्कर नहीं ले लड़के मेरा क्या उखाड़ लेंगें ? तेरी झांटें उखाड़ लेंगें किसी दिन, ये लड़के बड़े हरामी और मादर चोद होते है सज्जो ? मैंने कहा अरे अम्मी तुम चिंता न करो अगर ऐसा है तो मैं इनकी माँ चोद दूँगी।
एक दिन अब्बा बोला अरी सज्जो देख तेरी अम्मी कहाँ गयी है गांड मराने अपनी ? मैंने कहा अम्मी तो घर पर ही है अब्बा ? एक दिन और वो बोला सज्जो तू बार बार कहाँ चली जाती है अपनी माँ चुदाने ? मैंने मुस्कराकर कहा अब्बा मैं अपनी माँ घर पर ही चुदाती हूँ। एक दिन मैंने अम्मी को घर पर ही किसी अंकल से चुदवाते हुए देख लिया था। अम्मी भी जान गयी की मैं पकड़ी गयी लेकिन वो उस समय तो कुछ नहीं बोली बाद में मुझसे कहा सज्जो अब तुम भी चुदाना सीख लो। लड़कों के लण्ड पकड़ा करो, बेटी ? एक दिन मैंने अब्बा को भी पड़ोस की आंटी को चोदते हुए देखा ? अब्बा समझ गया की मैंने पकड़ लिया उसे। वह कुछ नहीं बोला लेकिन जान गया की अब सज्जो चुदाने वाली हो गयी है। हां मेरी नज़र अब्बा के लण्ड पर जरूर पड़ी थी।
मेरी जब शादी हो गयी और मैं अपने मियां के साथ सेक्स पार्टी में गयी तो वहां खुल कर खूब चुदवाया और सब मर्दों के लण्ड का स्वाद लिया चुदाने का भी स्वाद और लण्ड पीने का भी स्वाद ? मैं मस्त हो गयी और फिर बड़ी बेशरम भी हो गयी। मैं जब माईके आयी तो अम्मी से कहा क्या अम्मी तुम भी बड़े बड़े अंकल लोगों से चुदवाया करती हो। तुम भी जवान लड़कों से चुदवा सकती हो ? अम्मी बोली अरी सज्जो तू क्या कह रही है। अब इस उम्र में मुझे जवान लड़के कहाँ मिलेंगे ? मैंने कहा क्यों नहीं मिलेंगे भोसड़ी वाले ? पहले तुम मेरे मियां से चुदवाओ अम्मी ? वह बोली हाय दईया , मैं अपने दामाद से चुदवाऊँ ? मैंने बोली तो क्या हुआ खाला को देखो अपने दामाद से चुदवाती की नहीं ? अपनी नन्द यानी मेरी फूफी को देखो वह अपने दामाद से चुदवाती है की नहीं ? और तो और अपने पड़ोस में देख लो सलमा आंटी को ? उसकी बेटी तो अपने मियां का लण्ड अपनी माँ के भोसड़ा में घुसा देती है। इसमें शर्माने की क्या जरुरत है अम्मी ? चोदा चोदी में कोई रिस्ता नहीं देखा जाता। यह बात मेरे कॉलेज में मेरी मेम ने बताया था। उसने कहा था की –
जब लण्ड सामने खड़ा हो तो उसे फ़ौरन अपनी चूत में घुसा के चुदवा लो ? यह मत देखो की लण्ड किसका है ?
मैंने अब्बा से एक दिन कहा तू भोसड़ी का आंटियों का भोसड़ा चोदा करता है कभी किसी नयी बीवी की बुर चोद कर द्देखो कितना मज़ा आता है ? वह बोला नहीं सज्जो अब मुझसे कौन नयी बीवी चुदवायेगी ? मैंने बताया अरे नहीं अब्बा आजकल नयी बीवियां पुराने लण्ड से ज्यादा चुदवाने लगी है। नये लड़कों को चोदने का इल्म नहीं होता ? वो बहन चोद खुचुर खुचुर करके झड़ के चले जाते है और बीवी बिचारी चुदासी ही रह जाती है। तुम चिंता न करो मैं दूँगी तुम्हे नयी नयी बीवियां चोदने को ?
दूसरे दिन मैं अपने मोहल्ले में असद के घर चली गयी। वह अपनी बीवी के साथ घर में अकेला था . मैं उससे बातें करने लगी। उसकी बीवी शन्नो मेरे सामने ही बैठी थी।

मैंने कहा भोसड़ी के असद तूने मुझे अपनी शादी में बुलाया क्यों नहीं ?
वह बोला यार सज्जो जल्दी जल्दी में शादी हो गयी तो बहुत लोगों को बुला नहीं सका ?
तो क्या बुर चोदने की तुझे बड़ी जल्दी थी ? (उसकी बीवी मुस्कराने लगी) अच्छा ये बता तूने सुहागरात में अपनी बीवी चोदी है न ?
वो तो सभी लोग करते है सज्जो ?
अच्छा सच सच बता तूने अभी तक किसी से अपनी बीवी चुदवाई है ?
वह थोड़ा रुक गया, इतने में उसकी बीवी बोली बता दो न सच सच इसमें छुपाने की क्या जरुरत है ?
हा अपने एक दोस्त से अपनी बीवी चुदवाई है ?
मेरे मियां से अपनी बीवी चुदवाओगे बोलो ?
(उसकी बीवी ने उस आँख मारी की हां कह दे ) हां चुदवा लूँगा सज्जो ?
देखो मुफ्त में नहीं चुदवाऊँगी तेरी बीवी ? बदले में मैं तुमसे चुदवाऊँगी असद ?
क्या कह रही हो सज्जो ?
हां हां असद मैं तुमसे चुदवाऊँगी और तेरी बीवी मेरे मियां से चुदवायेगी ?
सच बताऊँ सज्जो मैं तो जाने कबसे तुम्हे चोदने की फिराक में था ?
तो फिर आजतक तूने बताया क्यों नही ?
उसकी बीवी बोली अरे सज्जो मेरा मियां भोसड़ी का बड़ा शर्मिला है। इसका मन था की मैं सुहागरात में इसके दोस्त से चुदवाऊँ पर इसके मुंह से निकल नहीं रहा था। तब मैं बोली बुला लो अपने दोस्त को ? जब वह आया तो मैंने खुद हाथ बढ़ा कर उसका लण्ड पकड़ लिया फिर इसके सामने ही मैंने उससे चुदवाया।
मैं समझ गयी की इसकी बीवी बड़ी चालू है। ये तो मेरे अब्बा से और मेरे मियां से बड़ी मस्ती से चुदवायेगी ?
एक दिन मेरे कॉलेज का दोस्त रफीक आ गया मैं उसे बैठा कर बातें करने लगी। तब मुझे मालूम हुआ कि उसकी शादी हो गयी है। मैंने कहा यार मेरी भी शादी हो गयी है ? ये बता की तेरी सुहागरात कैसी रही ? – बड़ी मस्त रही यार बड़ा मज़ा आया – तेरी बीवी कैसी लगी तुझे ? शर्माती तो नहीं है ? – अरे बिलकुल नहीं शर्माती है पर एक बात है, वो गालियां खूब बकती है – कहाँ से सीखी उसने गालिया – कॉलेज से और अपनी माँ से ? उसकी माँ भी खूब देती है गालियां मैंने खुद सूना है वो अपनी बेटी को बुर चोदी, भोसड़ी वाली और माँ की लौड़ी कहा करती है – तूने कभी अपनी बीवी की माँ चोदी है ? – अभी तक तो नहीं चोदा पर किसी दिन चोद दूंगा भोसड़ी वाली को – तेरी बीवी चुदवाने में कैसी है यार ? – अरे यार बड़ी मस्त चुदवाती है ससुरी – तेरे दोस्तों से चुदवा लेती है – वो तो रोज़ कहती है की मुझे अपने दोस्तों से चुदवाओ और उनकी बीवी चोदो क्योंकि आजकल ये सब खूब हो रहा है – तो चोदते क्यों नहीं हो यार दूसरों की बीवी ? – कोई अच्छा कपल मिले तो चोद भी लूँगा – मुझे चोदोगे रफीक बोलो – मेरा तो नसीब खुल जायेगा सज्जो – मेरा शौहर तेरी बीवी चोदेगा ? तो वह चुदवा लेगी – वो तो दौड़ कर चुदवायेगी यार ? – तो फिर कल अपनी बीवी लेकर मेरे घर आ जाना।
मैंने कहा अम्मी आज रात को मैंने एक सेक्स पार्टी रखी है जिसमे बीवियों की अदला बदली होगी ? मतलब यह की इसकी बीवी वो चोदेगा और उसकी बीवी ये चोदेगा ? अम्मी की आँखों में तो चमक आ गयी वह बोली हाय दईया कौन कौन होगा तेरी पार्टी में सज्जो ? मैंने बताया असद उसकी बीवी शन्नो, रफीक उसकी बीवी रेहाना, मैं सज्जो मेरा शौहर शैफ और अब्बा अब्बास अम्मी शकीला ? अम्मी ने फिर कहा तुम नौजवानो के बीच हम लोग ? मैंने कहा यही तो खूबी है इस पार्टी की। फिर मैंने अब्बा से कहा की अब्बा आज रात को तुम्हे दो दो नयी बीवियां चोदने को मिलेंगी ज़रा तैयार होकर आना और जम कर चोदना भोसड़ी वालियों को ?
शाम को महफ़िल जम गयी और दारू चालू हो गयी। देखो दोस्तों, एक बात तो है की यहाँ चारों बीवियां अपने मियां के अलावा गैर मर्द से चुदवा चुकी है। तो अब गैर मर्दों से चुदवाने में शर्म की कोई बात ही नहीं है ?
रेहाना :- यार सज्जो शर्म कौन कर रही है भोसड़ी वाली ? शर्म करने वाली की माँ का भोसड़ा ?
मैं समझ गयी की रफीक सही कह रहा था की उसकी बीवी गाली खूब बकती है।
मैं बोली :- रेहाना तो फिर खोलो न अपनी चूंचियां अपनी चूत और दिखाओ सबको ?
वह फिर बोली :- मैं तो लण्ड देख कर चूंची खोलती हूँ, लण्ड चूस कर अपने बुर दिखाती हूँ और लण्ड पेल कर चुदवाती हूँ।
मैं बोली :- तो सबसे पहले तू किसका लण्ड पकड़ेगी ?
वह बोली :- मैं तो तेरे मियां का लौड़ा पकड़ूंगी सज्जो ?

रेहाना उठी और मेरे मियां का लौड़ा ऊपर से ही दबाकर बोली हाय मेरे राजा अब खोल के दिखाओ न मुझे अपना लौड़ा ? मैंने फिर रफीक का लण्ड पकड़ लिया। उधर अम्मी ने असद का लण्ड पकड़ कर हिलाना शुरू किया और उसकी बीवी शन्नो ने मेरे अब्बा का लण्ड पकड़ कर सहलाने लगी। लण्ड तो चारों मर्दों के बाहर आ गये लेकिन चूत और चूंचियां अभी भी अंदर ही थीं ? सबसे पहले रहना उठीं और अपने कहोल कर नंगी हो गयी। उसने मस्ती से सबको अपनी चूंची चूत गांड चूतड़ घूम घूम कर खूब दिखाया। यही हाल शन्नो का भी था। वह भी नंगी होकर सबकी गोद में बैठ बैठ कर सबके लण्ड हिला हिला कर देखा। मुझे भी मस्ती आ गयी मैंने भी अपने कपडे खोले और सबको अपनी बुर दिखाने लगी फिर सबके पास जा जा कर सबके लण्ड पकड़ कर देखा। उसके बाद अम्मी ने अपने कपडे खोले। मैंने कहा अब तुम लोग प्रेम देखो मेरी माँ का भोसड़ा ? अब तुम तीनो जवान मर्दों को मेरी माँ भोसड़ा चोदने का मौक़ा मिलेगा ? देखो ठीक से चोदना मेरी माँ का भोसड़ा नहीं तो फिर मैं चोदूंगी तेरी माँ का भोसड़ा ? थोड़ी देर में सब बीवियां नंगी हो गयी। मरद एक दूसरे की बीवी की बुर चाटने लगे और बीवियां एक दूसरे में मरद का लण्ड ?
उसके बाद अब्बा असद की बीवी शन्नो की बुर चोदने लगा और असद मेरी अम्मी का भोसड़ा चोदने लगा ? मेरा मियां रफीक की बीवी चोदने लगा और रफीक मुझे चोदने लगा ? फ़चाफ़च चारों चूत चुदने लगी ? कमरा चुदाई की आवाज़ से गूंजने लगा। चुदाई की महक कमरे में चारों तरफ फ़ैल गयी। अब्बा बोला मैं बहुत दिनों के बाद किसी नयी बीवी की बुर चोद रहा हूँ मुझे बड़ा मज़ा आ रहा है। अम्मी बोली हाय सज्जो आज मुझे नये लड़कों से चुदाने में खूब अच्छा लग रहा है।
इस तरह रात भर सभी बीवियों ने मरद अदल बदल कर चुदवाया और मर्दों ने बीवियां अदल बदल कर चोदीं ?

Best Hindi sex stories © 2020