Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

मस्त सेक्सी पड़ोसन-2

desi hot kahani अब में उनके दोनों नरम रसभरे होंठ को अपने होंठों के बीच में लेकर चूसने लगा था। भाभी भी मेरी बाहों में अधनंगी खड़ी मुझे अपने दोनों हाथों से पकड़कर अपने होंठ मुझसे चुसवा रही थी और अपने बूब्स को मसलवा भी रही थी। फिर धीरे धीरे भाभी ने मेरे हाथों से निकलकर मेरा बनियान उतार दिया और मैंने अपना एक हाथ उसकी पेंटी में डालकर उसकी चूत को अपने हाथ में लेकर उसको रगड़ने लगा। फिर कुछ देर बाद मैंने अपनी एक उंगली को उसकी चूत में डाल दिया और अब में उसको अपनी उंगली से चोदने लगा, मेरे ऐसा करने से कुछ देर में उसकी चूत गीली हो गई और फिर मुझे लगा कि अब यह रंडी मुझसे चुदने को एकदम तैयार है। अब मैंने अपनी उंगली को उसकी चूत से बाहर निकाल लिया और फिर उसकी पेंटी को उसके बदन से अलग कर दिया, जिसकी वजह से अब हम दोनों एक दूसरे के सामने बिल्कुल नंगे खड़े थे और हम दोनों एक दूसरे को देख भी रहे थे। फिर भाभी मुझसे बोली वाह मेरे राजा तुम नंगे बहुत सुंदर दिखते हो तुम्हारा यह तनकर खड़ा लंबा लंड देखने में बहुत ही सुंदर लगता है और कोई भी लड़की या औरत इसको अपनी चूत में लेकर अपनी चुदाई जरुर करवाना चाहेगी।

अब में भाभी के पास गया और उनको अपनी बाहों में लेकर मैंने उसको कहा कि मुझे कोई और लड़की या औरत से मतलब नहीं है, क्या आप मेरे लंड को अपनी चूत के अंदर लेना चाहती हो या नहीं? फिर भाभी कहने लगी कि अरे तुम अभी नहीं समझे, में तो ना जाने कब से तुम्हारे लंड से अपनी चूत की चुदाई करवाना चाहती हूँ, प्लीज अब जल्दी से तुम मुझे चोदो मेरी चूत में आग लगी है तुम इसको आज शांत कर दो और फिर वो मेरे पास आई और मेरा लंड अपने हाथ में लेकर प्यार करने लगी। अब में भाभी का एक बूब्स अपने मुहं में लेकर चूसने लगा और दूसरे बूब्स को अपने एक हाथ में लेकर मसलने लगा। भाभी भी अब तक बहुत गरमा चुकी थी। अब मेरा लंड अपने हाथों में पकड़कर मुझे बेड पर पटक दिया और मेरा लंड अपने हाथों में लेकर उसको वो बड़े ही ध्यान से देखने लगी। फिर थोड़ी देर के बाद वो बोली वैसे तुम्हारा लंड बहुत ही दमदार सेक्सी है, आज मेरी चूत बहुत मज़े लेकर इस लंड से चुदेगी तुम चुपचाप पड़े रहो, मुझे तुम्हारा लंड का पानी चखना है और इसका मज़ा लेना है। अब कहने लगा कि हाँ ठीक है, भाभी जब तक आप मेरे लंड का स्वाद चखोगी में भी आपकी चूत के स्वाद का आनंद उठाऊंगा, आइए हम दोनों 69 आसन में पलंग पर लेटते है।

फिर हम दोनों पलंग पर एक दूसरे के पैर की तरफ मुहं करके लेट गये। मैंने भाभी को अपने ऊपर कर लिया। अब भाभी ने मेरे लंड के टोपे को अपने होठों से लगाकर एक जोरदार चुम्मा दिया और फिर वो अपने मुहं में लेकर चूसने लगी और कभी कभी उसको अपनी जीभ से चाटने भी लगी। मुझे अपने लंड के साथ ज्यादा देर मज़े मस्ती की वजह से रहा नहीं गया। अब मैंने अपना लंड भाभी के मुहं में डाल दिया, भाभी मेरे लंड को अपने मुहं से बाहर निकालती हुई एक रंडी की तरह बोली वाह मेरे राजा मज़ा आ गया और डालो अपने लंड को तुम मेरे मुहं में उसके बाद तुम इसको मेरी चूत में भी डालना। अब में भाभी को जो की मेरे ऊपर लेटी हुई थी। मैंने उसके दोनों पैरों को फैला दिया, जिसकी वजह से अब मेरी आँखों के सामने उनकी झांटों वाली चूत पूरी तरह से खुली हुई थी और वो मेरा लंड खाने के लिए तैयार भी थी। अब में अपनी उंगली को चूत में डालकर अंदर बाहर करने लगा था और भाभी ज़ोर से सिसककर बोली उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह्ह तुम क्यों समय बर्बाद कर रहे हो? मेरी चूत को उंगली नहीं चाहिए अब तुम इसको अपनी जीभ से चोदो और उसके बाद तुम इसको अपना लंड भी खिला देना, क्योंकि यह तुम्हारा लंड खाने के लिए बहुत तरस रही है।

फिर में कहने लगा कि आप क्यों चिंता कर रही हो भाभी? में अभी आपकी चूत और मेरे लंड का मिलन करवा देता हूँ, लेकिन उसके पहले में आपकी चूत का रस तो चख लूँ और में भी तो देखूं कि भाभी की चूत का स्वाद कैसा है? मैंने सुना है कि सुंदर और सेक्सी औरत की चूत का रस बहुत मीठा होता है। तब भाभी बोली हाँ ठीक है जो तुम्हारी मर्ज़ी में आए वो तुम करो, यह चूत अब तुम्हारी है तुम इसके जैसे चाहो वैसे मज़े ले लो, हाँ एक बात और जब हम एक दूसरे को चोदने के लिए तैयार है और एक दूसरे की चूत और लंड को चाट रहे है, तब तुमने यह आप आपकी क्या रट लगा रखी है? अब तुम मुझे मेरा नाम लेकर पुकारो और यह आप आप की रट छोड़ो। फिर मैंने देखा कि उनकी चूत मेरा लंड खाने के लिए खुल-बंद हो रही है और वो अपनी लार को भी बहा रही थी और उसकी चूत बाहर अंदर से रस से भीगी हुई थी। फिर मैंने जैसे ही अपनी जीभ को भाभी की चूत में डाला वो चिल्लाने लगी आह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ्फ़ यह भी क्या चीज़ बनाई है भगवान ने? चूसो चूसो और ज़ोर से चूसो मेरी चूत को और अंदर तक अपनी जीभ को डालो उफ्फ्फ्फ़ मेरी चूत की घुंडी को भी चाटो, बहुत मज़ा आ रहा है ऊईईई में अब झड़ने वाली हूँ और इतना कहते ही भाभी की चूत ने गरम गरम मीठा रस छोड़ दिया।

फिर में अपनी जीभ से चाटकर पूरा का पूरा रस पी गया और उधर भाभी ने अपने मुहं में मेरा लंड लेकर उसको वो बहुत ज़ोर ज़ोर से चूस रही थी और में भी कुछ देर बाद भाभी के मुहं में झड़ गया। अब मेरे लंड से पूरा वीर्य भाभी के मुहं में गिरा और उसको वो पूरा का पूरा पी गयी, भाभी का चेहरा कामज्वाला से चमक रहा था और वो मुस्कुराती हुई मुझसे कहने लगी, मुझे अपनी चूत को तुमसे चुसवाने में बहुत मज़ा आया। अब में अपनी चूत की चुदाई का मज़ा भी तुमसे लेना चाहती हूँ और इसलिए अब तुम जल्दी से अपना लंड मेरी चुदाई के लिए तैयार करो और उसको मेरी चूत में डाल दो, क्योंकि अब मुझसे ज्यादा देर रहा नहीं जाएगा। फिर मैंने भाभी की वो बात सुनकर तुरंत उनको पलंग पर एकदम सीधा लेटा दिया और उनके दोनों पैरों को ऊपर उठाकर उनके घुटनों से मोड़ दिया और उसके बाद मैंने अपने लंड का टोपा खोलकर उनकी चूत के मुहं के ऊपर रख दिया। अब में धीरे धीरे उनकी चूत के दाने से रगड़ने लगा, भाभी मेरे साथ अपनी चुदाई के सपने देखकर अपनी कमर को नीचे से ऊपर कर रही थी।

फिर थोड़ी देर के बाद वो मुझसे बोली, अबे साले बेटीचोद तुझे फ्री में एक पराई औरत की चूत को चोदने का मौका मिल रहा है इसलिए तू अपना खड़ा लंड मेरी कामुक चूत को दिखा रहा और क्यों तू इसको मेरी चूत के अंदर नहीं डालता? साले भोसड़ी के गांडू अब जल्दी से अपना मूसल जैसा लंड मेरी चूत में घुसा दे, नहीं तो तू अब हट जा मेरे ऊपर से, में खुद ही अपनी उंगली को चूत में डालकर अपनी चूत की सारी गर्मी अभी तेरे सामने निकाल देती हूँ। अब मैंने उनके बूब्स को पकड़कर निप्पल को मसलते हुए उनके होठों को चूमा और बोला कि अरे मेरी रानी तुझे इतनी भी जल्दी क्या है? ज़रा में पहले तुम्हारे इस सुंदर नंगे बदन का थोड़ा सा आनंद तो उठा लूँ और उसके बाद में जी भरकर तुम्हारी चुदाई करूंगा। अब तक अपने इस जीवन में कभी इस तरह से नंगी औरत नहीं देखी है, मुझे थोड़ा देखकर अपना जी भर लेने दे और फिर में तेरी इतनी जमकर चुदाई करूंगा कि तुम्हारी यह सुंदर डबल रोटी सी चूत चुद चुदकर एकदम लाल पड़ जाएगी और ये सूजकर पकोड़ी हो जाएगी। दोस्तों एक बात है 30 साल की उम्र में भी उसका वो गठीला नंगा बदन देखने में बड़ा मस्त लग रहा था।

अब भाभी कहने लगी कि साले पागल चोदू तू मेरी जवानी का बाद में मज़ा लेना, उसके लिए अभी हमारे पास पूरी रात पड़ी है अभी मुझे घर पर कुछ काम भी करना है। अब तू बस मुझे चोद दे, में अब मरी जा रही हूँ, मेरी चूत में आग लगी है और वो तुम्हारे लंड के धक्के से ही मिट सकती है, जल्दी से तुम अपना लंड मेरी चूत में डाल दो प्लीज, मेरे राजा अब थोड़ा तुम जल्दी भी करो। फिर भाभी की इन सब सेक्सी बातों को सुनकर में खुश हो गया और में समझ गया था कि अब यह मुझसे रंडी की तरह अपनी चुदाई के मज़े लेना चाहेगी। अब भाभी मेरे लंड से चुदने के लिए पूरी तरह से तैयार थी, मैंने अपने लंड का टोपा उनकी पहले से भीगी हुई चूत के दरवाजे के ऊपर रखा और धीरे से अपनी कमर को हिलाकर सिर्फ़ अपने टोपे को अंदर कर दिया। दोस्तों भाभी की फूली हुई चूत में मेरे लंड का टोपा जाते ही उन्होंने अपनी कमर को एक झटके से ऊपर की तरफ उछाला और अब मेरा 6 इंच का लंड पूरा का पूरा उनकी चूत में चला गया। अब भाभी ने एक आह सी भरी और वो बोली आह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ वाह मुझे क्या शान्ती मिली तुम्हारे लंड को अपनी चूत में डलवाकर।

अब यह भी बहुत अच्छा हुआ क्योंकि मुझे भी बहुत दिनों से इच्छा थी, किसी लंबे मोटे लंड से अपनी चुदाई करवाने की आज वो पूरी हो गई है और नहीं तो मेरी यह इच्छा कभी भी पूरी नहीं होती। अब में जोश में आकर अपना लंड धीरे धीरे उनकी चूत के अंदर बाहर करने लगा और शायद भाभी ने अपनी चूत में पहले कभी भी इतना मोटा लंड नहीं लिया था और उसके पति का लंड मेरे लंड से पतला होगा, इसलिए उन्हे कुछ ज्यादा दर्द तकलीफ़ हो रही थी। अब मुझे भी उनकी चूत बहुत टाइट लग रही थी और में मस्त होकर उनकी चूत को धक्के देकर चोदने लगा। भाभी मेरी चुदाई से मस्त होकर अब बड़बड़ा रही थी उईईईईइ आह्ह्हह्ह मेरे राजा हाँ मेरे राजा और चोदो स्सीईईइ और ज़ोर से धक्के देकर चोदो। अब तुम्हारी भाभी की चूत तुम्हारा लंड खाकर आज निहाल हो रही है ऊह्ह्ह्हह लंबे और मोटे लंड की चुदाई का मज़ा कुछ और ही होता है बस आज मुझे मज़ा ही आ गया, हाँ तुम ऐसे ही अपनी कमर को उठा उठाकर मेरी चूत में अपना लंड डालते रहो। अब मेरी चूत की तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो, आज तुम इसको फट जाने दो, क्योंकि मेरी चूत की भी बहुत दिनों से मोटा और लंबा लंड खाने इच्छा थी, तुम और ज़ोर ज़ोर से खिलाओ अपना मोटा और लंबा लंड।

अब में भी ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर उनकी चूत में अपना लंड डालते हुए बड़बड़ा रहा था, हाँ मेरी रानी ले मज़ा और ले जी भरकर खा अपनी चूत में मेरे लंड की ठोकर, मेरी किस्मत आज बहुत अच्छी है जिसकी वजह से में तुम्हारे जैसी औरत की चूत में अपना लंड डालकर तुम्हारी चुदाई कर रहा हूँ। क्या मेरी चुदाई तुम्हे पसंद आ रही है? सही सही बताना भाभी में तुम्हे चुदाई के पूरे मज़े दे रहा हूँ या नहीं, क्या में तुम्हारी रसीली चूत को अच्छी तरह चोद रहा हूँ या आपका पति ऐसे मज़े देता है? अब भाभी कहने लगी उफ्फ्फ मेरे राजा अब में तुम्हे क्या बताऊँ? में तुम्हारी चुदाई से बहुत खुश हूँ हाँ मेरा पति भी मुझे चोदता जरुर है, लेकिन तुम्हारी इस और उनकी उस चुदाई में बहुत फ़र्क है। वो रोज सोने से पहले बिस्तर पर मुझे लेटाकर झट से पूरी नंगी करके मेरे दोनों पैरों को ऊपर उठाते है और फिर वो अपना लंड मेरी चूत में डाल देते है। अब तक उसको इस बात का बिल्कुल भी एहसास नहीं है कि हर एक औरत धीरे धीरे गरम होती है, लेकिन वो तो बस दो मिनट मुझे धक्के देकर मेरी चुदाई करते है और फिर उसके बाद वो मेरी चूत में झड़ जाते है और में हर रोज उसकी चुदाई के बाद भी वैसी ही प्यासी तरसती हुई रह जाती हूँ।

अब मुझे लगता है कि तुम्हारे लंड खाने के बाद अब मेरी चूत कभी भी उनका लंड खाना पसंद नहीं करेगी, क्योंकि तुम्हारे लंड से मेरी चूत अब पूरी फैल जाएगी और मेरी इस चूत में उनका पतला और छोटा लंड ढीला ढीला अंदर जाएगा, जिसकी वजह से कम से कम मुझे मज़ा नहीं आएगा। अब मैंने उनसे पूछा कि भाभी आप मुझे अब एकदम सही सही बताना तुमने शादी के पहले भी किसी लंड को अपनी चूत में लिया है कि नहीं? हाँ मेरा एक बॉयफ्रेंड है जो आजकल मुंबई में रहता है और उसकी शादी कुछ महीने पहले किसी और लड़की से हो गई है, उसने मुझे मेरी शादी से पहले भी बहुत बार जमकर चोदा है, लेकिन उसके लंड की चुदाई मुझे इतनी पसंद नहीं आई। अब मैंने वो बातें सुनकर एकदम चकित होकर भाभी से पूछा भाभी ऐसा क्यों? अरे उसका लंड भी बहुत छोटा और पतला है, लेकिन वो मुझे चोदने के पहले और चोदने के बाद बहुत जमकर मेरी चूत को जरुर चाटते और चूसा करते थे और उनका चूत को चूसने का तरीका मुझे इतना अच्छा लगता था कि वो शादी से पहले जब भी दिल्ली आते तब वो मेरी चूत को ज़रूर चोदते थे, लेकिन अब तो उनकी भी शादी हो गई है।

दोस्तों यह सब बातें करते करते हुए हम लोग अपनी तरफ से धक्के देते हुए चुदाई का पूरा मज़ा लेते रहे और मेरी चुदाई से भाभी दो बार झड़ चुकी थी और फिर मैंने अपना लंड उनकी चूत के अंदर तक डालकर में उनकी चूत के अंदर ही झड़ गया। फिर में उसके ऊपर ही थककर लेट गया और कुछ देर के बाद भाभी ने बेड से उठकर अपने कपड़े पहन लिए। उसके बाद मुझे गाल पर एक चुम्मा देकर वो अब बाद में दोबारा मुझसे मिलने का वादा करके अपने घर पर चली गई और में उनकी चुदाई के बारे में ही कुछ देर तक सोचता रहा। दोस्तों में उस दिन उनकी पहली मस्त चुदाई करके बहुत खुश था, क्योंकि मेरी वो मन की इच्छा उनकी चुदाई करके आज पूरी हो चुकी थी ।।

धन्यवाद …

Best Hindi sex stories © 2017
error: