Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

हॉट लेडी मेरे घर पर-2

hindi sex stories फिर में उठा और तेल लाकर उसकी चूत पर और कुछ अपने लंड पर लगाकर उसकी चूत के छेद पर अपना लंड रखने के बाद उसके लिप्स पर मेरे लिप्स रखकर उसे किस करने लगा और एक ज़ोर का झटका दिया तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत में अंदर तक चला गया। फिर उसके मुँह से एक चीख निकल गयी, लेकिन उसकी चीख मेरे मुँह के अंदर ही दब गयी थी। अब उसकी सील टूटने की वजह से उसका ब्लडिंग शुरू हो गया था और वो रोने लग गयी थी। फिर में थोड़ी देर तक उसकी टाईट और रसीली चूत में मेरा बड़ा और मोटा लंड डाले हुए बिना हीले उसके ऊपर ही पड़ा रहा और उसके बूब्स दबाता रहा और उसे किस करता रहा।

फिर थोड़ी देर के बाद जब उसे अच्छा लगने लगा तो तब मैंने झटके देना शुरू किया। अब में उसकी बिल्कुल फ्रेश चूत में मेरा बड़ा और मोटा लंड अंदर बाहर करके उसे चोद रहा था और वो भी नीचे से उसके कूल्हे उठा उठाकर मज़े लेकर मुझसे चुदवा रही थी। अब उसके मुँह से बड़ी अज़ीब सी आवाजे आ रही थी आह्ह राहुल, मेरे राजा आज मुझे औरत बना दो, इस कली को फूल बना दो। अब वो मेरा पूरा लंड ले रही थी और मुझे ललकार रही थी और ज़ोर से चोदो अपनी रानी को, आज तुमने मुझे स्वर्ग का मज़ा दिया है, आआअहह, अब तो में तुमसे रोज़ाना ही चुदवाया करूँगी, फाड़ दो अपनी रानी की चूत को, बना दो उसका भोसड़ा। अब उसके मुँह से ऐसी बातें सुनकर मुझे बड़ा जोश आ रहा था और में ज़ोर-ज़ोर से उसकी चूत को चोद रहा था। अब मेरे हर धक्के में वो 1-2 इंच ऊपर हो रही थी। फिर करीब 40 मिनट की चुदाई के बाद वो बोली कि मेरे राजा में झड़ने वाली हूँ, आआहह लो में झड़ गयी, हाइईईईईई। अब उसने मुझे अपने दोनों पैरो के बीच में जकड़ लिया था। अब में भी रुक गया था।

फिर जब वो पूरी तरह से झड़ गयी तो वो बोली कि राज मेरी जान आज तुमने मुझे फूल बना दिया है। तो तब मैंने पूछा कि तुम खुश तो हो ना? तो वो बोली कि आज से पहले में कभी भी इतनी खुश नहीं हुई। फिर में बोला ठीक है, अभी मेरा झड़ना बाकी है, अब तुम डॉगी स्टाइल में हो जाओ, में तुम्हें पीछे से चोदूंगा तो वो तुरंत घूम गयी, उसके कूल्हें पीछे से बहुत मस्त लग रहे थे। फिर मैंने पूछा कि क्या में तुम्हारी गांड में अपना लंड डाल सकता हूँ? तो वो बोली कि जो चाहे करो, बस मुझे मज़ा आना चाहिए। फिर में बोला कि शुरू में थोड़ा दर्द होगा। तो वो बोली कि पता है, में ना भी करूँ तो तब भी तुम जबरदस्ती मेरी गांड जरूर मारोगे, वैसे में भी गांड चुदवाने का मज़ा लेना चाहती हूँ, बस मेरी गांड को आराम से मारना। तो मैंने कहा कि ठीक है।

फिर मैंने थोड़ा सा तेल लिया और उसकी गांड पर लगाया और कुछ अपने लंड पर लगाया। फिर मैंने उसकी गांड के छेद पर अपना 9 इंच लंबा और 4 इंच मोटा लंड रखा और एक जोरदार धक्का मारा तो उसने अपने होंठ दबा लिए जिससे उसकी चीख बाहर नहीं आ सकी। फिर मैंने देखा कि वो रो रही थी। फिर मैंने पूछा कि हीना क्या दर्द हो रहा है? तो रहने देते है। फिर वो बोली कि नहीं राज, प्लीज अपना लंड बाहर मत निकलना, पूरा लंड मेरी गांड में डाल दो। फिर में भी नहीं रुका और अपना पूरा लंड बाहर करके एक जोरदार झटका मारा तो मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी गांड में समा गया। फिर में रुका नहीं और उसकी गांड मारता रहा, उसकी गांड उसकी चूत से भी ज़्यादा टाईट थी। अब मुझे उसकी गांड मारने में बहुत मज़ा आ रहा था और अब वो भी मेरी चुदाई का मज़ा ले रही थी और ऑश आआआआहह मारो राज और ज़ोर से मारो मेरी गांड, जितना चाहो मारते रहो, मुझे तुमसे चुदवाने में बहुत मज़ा आ रहा है। फिर करीब 30-35 मिनट तक उसे चोदने के बाद मैंने हीना से कहा कि मेरी जान अब में झड़ने वाला हूँ।

फिर वो बोली कि प्लीज राज मेरी गांड को अपने अनमोल रस से भर दो, में तुम्हारी बहुत एहसान मंद रहूंगी। अब इस दौरान में भी अपनी चरम सीमा पर आ गया था और खूब ज़ोर-ज़ोर से अपना लंड उसकी गांड में डालकर उसे चोद रहा था। अब वो आहह, उहहहहह, मारो-मारो चिल्ला रही थी की तभी में झड़ने लगा और फिर मैंने अपना सारा रस उसकी गांड में डाल दिया। अब मेरे झड़ने दौरान उसे भी मेरा रस अपनी गांड में महसस हो रहा था। फिर जब मैंने मेरा पूरा पानी उसकी गांड में निकालकर अपना लंड बाहर किया, तो उसकी गांड में से मेरा पानी बाहर आ रहा था। फिर वो उठकर बाथरूम में चली गयी और अपने कपड़े पहनने लगी और फिर मुझे किस करने लगी। फिर मैंने हीना से पूछा कि तुम तो शादीशुदा हो तो फिर तुम्हारी चूत से खून कैसा? तो तब वो बोली कि प्लीज किसी को नहीं बताना, मेरे पति मुझे ठीक से चोद नहीं पाते है, उनका लंड 3-4 इंच से ज़्यादा नहीं है जिसकी वजह से वो मेरी सील भी नहीं तोड़ सके है, वो तो 1-2 मिनट में ही झड़ जाते है और में प्यासी रह जाती थी, तुम तो संध्या को जानते हो, वो मेरी अच्छी फ्रेंड है।

फिर जब मैंने उसे अपनी प्रोब्लम बताई, तो उसने मुझसे प्रॉमिस लिया और बोला कि में तेरी प्रोब्लम ठीक कर सकती हूँ अगर तुम मानो तो। फिर मैंने संध्या से कहा कि में वादा करती हूँ कि यह बात मेरे सिवा किसी को पता नहीं चलेगी। फिर उसके बाद उसने मुझे तुम्हारे और उसके रीलेशन के बारे में बताया और कहा कि तुम कहो तो राहुल को पटा सकती हो और उसके लंड का मज़ा ले सकती हो। फिर में टिकट के बहाने तुमसे मिली और धीरे-धीरे तुमसे खुल गयी। अब में उसकी बात सुनकर हैरान था, लेकिन मुझे क्या? मुझे तो चूत चाहिए थी जो मुझे मिली और वो भी फ्रेश। फिर उसने पूछा कि राज जब कभी सेक्स करने का मौका मिलेगा तो क्या तुम मुझे चोदोगे? तो मैंने कहा कि तुम्हें ना करने वाला कोई पागल ही हो सकता है, तुम जब भी मुझे याद करोगी में आ जाऊँगा। फिर वो मुझे किस करके चली गयी। फिर 2-3 दिन तक वो मेरे यहाँ नहीं आई, लेकिन उसके बाद जब भी हमें मौका मिलता है तो में उसे खूब चोदता हूँ, आज तक मैंने उसे कितनी बार चोदा है? यह मुझे भी याद नहीं है, लेकिन आज भी में उसे बड़े प्यार और मज़े से चोदता हूँ और वो भी चुदवाती है ।।

धन्यवाद …

Best Hindi sex stories © 2017