Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

दुकान वाली लड़की की रसभरी चुदाई

kamukta, antarvasna हेल्लो दोस्तो, चलो आज मै आपको अपनी बुआ के विषय में कुछ सुनाने के लिए जा रहा हूँ | वैसे तो मुझे चुदाई करने का खास सौक नही है लेकिन एक दिन मैंने अपने पड़ोस में रहने वाली अपनी बुआ की सहेली को चोद डाला था | चलो आज मै सुनाता हूँ की मैंने अपनी बुआ की सहेली को कैसे चोदा था | मेरी एक दुकान है जहा पर मै मिठाई बनाकर बेचा करता हूँ | मेरी मिठाई की दुकान पर लोगो की भीड़ लगी रहती है | मेरे पड़ोस में मेरी बुआ की एक सहेली रहती है | मेरी बुआ की कई सहेलिया है | मेरी बुआ ने एक दिन मुझ से कहा था की तुमसे मिलने के लिए एक लड़की आने वाली है | क्योकि उसको रोजी रोटी कमाने के लिए तुम्हारी सहायता की आवस्यकता है | जब वो लड़की मुझ से मिलने के लिए आई हुई थी तब वो अकेली मेरे पास नही आई हुई थी वो लड़की उसकी मा के साथ मेरी दुकान पर आई हुई थी | वो लड़की मेरी दुकान पर मिठाई बनाने के लिए लगी थी |

वो एक साल तक मेरी दुकान पर मिठाई बनाया करती थी | तब मुझे एक अवसर मिला की मै उस लड़की की चुदाई कर सकता था | एक दिन जब वो लड़की मेरी दुकान पर मिठाई बना रही थी तब मै उसके दूध को अपने हाथों से दबा दिया था | जब मैंने उस लड़की के दूध को अपने हाथों से दबाया तो वो हसने लगी | जब वो लड़की हसने लगी तब मुझे एक अवसर मिला और आजादी मिल गया था की मै उस लड़की को आसानी से चोद सकता था | तब मैंने उस लड़की को अपने हाथों से गोदी पर उठाया और उसे मेरी दुकान से होती हुई अपने घर के एक कमरे के अन्दर ले गया | जब मै उस लड़की को अपने घर के एक कमरे के अन्दर ले गया था | फिर दुकान की फाटक को मैंने निचे कर दिया और फिर मै उस कमरे के अन्दर घुसा जहा पर वो लड़की मेरे बिस्तर पर लेटी हुई थी | मै फिर उस लड़की के उपर बिस्तर पर लेट गया |

पहले उस लड़की को चोदने से पहले मैंने उस लड़की के पजामा को खोल दिया | जब मै उस लड़की के पजामा को खोल चूका था तब वो लड़की बिस्तर के उपर चड्डी पहनकर लेटी हुई थी | जब वो लड़की चड्डी पहनकर लेटी हुई थी तब मैंने उस लड़की के चड्डी को निचे उतार दिया | फिर मै उस लड़की की चूत को अपनी मुह से चाटने लगा | उस लड़की की चूत को अपनी मुह से चाटने के बाद फिर मैंने उस लड़की के कपडे को खोल दिया | फिर मै उस लड़की के दूध को पीने लगा | फिर मै उस लड़की के दूध को अपने हाथों से मसलने लगा | फिर मैंने समय को बर्बाद किये बिने फिर मै उस लड़की के छाती के उपर बैठ गया | जब मै उस लड़की के छाती पर बैठ गया था | तब मैंने उस लड़की से कहा की क्या तुम मेरे लंड को चूस सकती हो | तब वो लड़की मेरे लंड को उसके मुह से पकडकर चूसने लगी | कुछ समय के बाद मैंने उस लड़की से कहा की अब मै तुम्हारी चूत के अन्दर अपना डालने वाला हूँ | जब मैंने ऐसा बोला की अब मै तुम्हारी चूत के अन्दर मेरा लंड डालने वाला हूँ तो वो हसने लगी | उस लड़की का हसना जब रुक गया तब मैंने उस लड़की की चूत के अन्दर अपने लंड को घुसेड दिया | उस लड़की की चूत को चोदने का अवसर मुझे मिला था | उस लड़की की चूत के अन्दर अपना लंड घुसेड़ने से पहले मैंने अपने लंड के उपर मेरे मुह से थोडा सा थूक निकाला और अपने लंड के उपर लगा दिया | कुछ समय तक उस लड़की की चूत को मै चोदता रहा | जब उस लड़की को चोदने के बाद मुझे थकावट होने लगी तब मैंने उस लड़की से कहा की फिलहाल मै थक चूका हूँ इसलिए तब मैंने उस लड़की से कहा की अब मै आपको नही चोद सकता हूँ |

अगले दिन जब मै घर पर अकेला था तब उस लड़की की मा मुझ से मिलने के लिए आई थी | उस लड़की की मा ने बताया की उनके घर की हालत बढ़िया नही है | इसलिए उसकी मा भी मेरी मिठाई वाली दुकान पर कार्य करने के लिए आई थी | अब वो लड़की नही उसकी मा भी मेरी मिठाई वाली दुकान पर मिठाई बनाया करती थी | एक दिन जब मै घर पर अकेला था | तब उस लड़की की मा मिठाई बना रही थी | उस दिन उसकी बेटी दुकान पर नही आई हुई थी | उस दिन उस लड़की की मा को चोदने का मुझे एक शानदार अवसर मिला था | अवसर का फायदा उठाने के लिए मैंने उस लड़की की मा से कहा की आज मै आपको तनखा देने वाला हूँ | इसलिए आज आप मिठाई तयार करने के बाद मेरे घर के अन्दर आ जाना क्योकि मै भी घर के कमरे पर रहूँगा | मै घडी के 6 बजने का इन्तजार कर रहा था | तब दुकान से जाना का समय हो जाता था इसलिए जब जैसे ही 6 बजे तो उस लड़की की मा मेरे घर के अन्दर आई | फिर उसकी मा मुझ से तनखा मांगने लगी | जब उस लड़की की मा ने मुझ से तनखा मंगा तब मैंने उस लड़की की मा से कहा की आप कुछ देर तक रुको | मै आपके लिए कुछ भोजन की व्यवस्ता कर देता हूँ | जब उस लड़की की मा को मैंने भोजन खिला दिया | तब उस दिन उस लड़की की मा खुस थी क्योकि उनको उस दिन तनखा मिलने वाली थी | लेकिन मै तो उस दिन तनखा देने के आलावा कुछ और उनको देने वाला था मतलब मेरे लंड जो की उनकी चूत में जाने वाला था | उस दिन मेरे लंड की गर्मी को शांति मिलने वाली थी क्योकि उस लड़की की मा का बदन मेरे लंड की गर्मी को भुजाने वाला था | उस दिन उस लड़की की मा को चोदने की योजना आखिरकार सफल हो गयी | फिर कुछ समय के बाद मैंने उस लड़की की मा को अपने बाहो में ले लिया |

कुछ समय तक चली चिपका चिपकी के बाद फिर मैंने उस लड़की की मा के दूध का रस पान करने लगा | कुछ समय तक उनकी मा के दूध का रस पान करने के बाद फिर मैंने उस लड़की की मा को कहा की आज मै आपको तनखा ही नही बल्कि कुछ और भी देने वाला हूँ मतलब आज मै आपकी चुदाई करने वाला हूँ | तब उस लड़की की मा ने मुझ से कहा की आप मेरे घर को चला रहे है इसलिए आगर आपको मेरी चुदाई करना है तो आप मेरी चुदाई कर सकते है | उस लड़की की मा को चोदने का अवसर मुझे काफी पसन्द आया | जब उस लड़की की मा ने मुझ से कहा की आज तो मेरी चूत को चोद सकते हो तब मैंने उस लड़की की मा को अपने लंड से चोदना लगा | कुछ समय तक चले रस लीला के बाद मेरे लंड से रस मलाई बाहर आने लगी | रस मलाई की वजय से एक शानदार चिकनाई मुझे मिल रही थी तब मै उस लड़की की चूत को सरलता से चोद रहा था | लंड के उपर लगी चिकनाई वो मेरे लंड से निकल रहे रस मलाई की वजय से थी | तब जब मैंने उस लड़की की मा को चोद लिया था तब मैंने उस लड़की की मा से कहा आज तो मै आपकी चुदाई करके थक चूका हूँ इसलिए मै एक सप्ताह के बाद आपकी चुदाई कर सकता हूँ | फिर मुझ से तनखा और चुदाई करवाने के बाद उसकी मा उसके घर चली गयी | लेकिन उस लड़की की मा को मालूम नही था की मै उनके आलावा उसकी बेटी को चोदा करता था |

मुझे जब भी अवसर मिलता था मै उस लड़की और उसकी मा से मिलने के लिए उसके घर पर जाता था | वो लड़की और उसकी मा मेरी मिठाई बनाने वाली दुकान पर मिठाई तयार करके उनकी जीविका चलाती थी इसलिए मै कभी भी उनके घर पर चला जाता था | मै उस लड़की की मा और उस लड़की से मेरा सम्बन्द चलता रहे इसकेलिए मै उस लड़की की मा के लिए कपडे लेकर जाता था | उस लड़की की मा को खुस रखने से मेरी जो चुदाई करने की योजना अक्सर सफल होती रहती थी | एक दिन मै उस लड़की के घर पर गया हुआ था तब मैंने उस लड़की से पूछा की तुम्हारी मा कहा पर गयी है | तब उस लड़की ने मुझे बताया की मा कुछ महीने से बाहर गयी हुई है इसलिए वो कुछ महीन तक आपकी मिठाई बनाने वाली दुकान पर नही आ सकती है | इसलिए मुझे अवसर मिला था की मै उस लड़की को उसके घर पर ही चोद सकता था | एक दिन मै उस लड़की के घर पर गया हुआ था तब वो लड़की और उसकी सहेली घर पर थी | फिर उस लड़की के साथ रस लीला करने के लिए मै उस लड़की के घर पर घुस गया | जब मै उस लड़की के घर पर घुसा तब मुझे मालूम चला की वो लड़की घर पर अकेली थी लेकिन उस समय कुछ अनोखा मुझे मालूम चला |

जब मै उस लड़की के साथ घर के कमरे अन्दर रास लीला करने में व्यस्त था तब मैंने वो देखा जिसकी वजय से मुझे उस लड़की की सहेली को भी उस समय चोदना पड़ा | चुदाई के दौरान पहेले मैंने उस लड़की को नंगा कर दिया था | जब वो लड़की मेरे सामने नंगी थी तब मै लड़की को चोद रहा था तब मैंने देखा की एक लड़की कमरे के अन्दर छिपकर बैठी हुई है और वो मुझे देख रही थी | तब उस लड़की से मैंने कहा की तुम्हारी सहेली को मालूम चल गया क्योकि उसने मुझे तुमको चोदते हुए देख लिया | इसलिए मैंने उस लड़की से कहा की अगर मै तुम्हारी सहेली को चोद देता हूँ तो वो किसी के सामने मेरी चुदाई के विषय में किसी को नही बता पायेगी | तब उस समय पर मै नंगा था इसलिए मै उस छिप्पी हुई लड़की का हाथ पकडकर उस लड़की को बाहर लेकर आ गया | जब वो लड़की बाहर आ गई तब मैंने उस लड़की की सहेली को चोदना शुरु कर दिया | फिर कुछ समय के बाद मैंने उस लड़की की सहेली के पजामा को पहेले उतार दिया | उसकी पजामा को निचे उतारने के बाद फिर मै उस लड़की की चूत को चाटने लगा | कुछ समय के बाद मेरे लंड से एक चिप चिपा तरल बाहर आने लगा | फिर मैंने उस लड़की की सहेली के चूत पर अपने चिप चिपा तरल की सहायता से अपने लंड को उस लड़की की चूत में घुसा दिया | ये मेरी जिन्दगी की वो सच्चाई है जिसकी वजह मै एक बदमाश लड़का घोषित हो चूका हूँ |

Best Hindi sex stories © 2017
error: