Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

चोदकर लंड लाल हो गया

Hindi sex story, antarvasna: भैया और भाभी के बीच के रिश्ते बिल्कुल भी ठीक नहीं चल रहे थे उन दोनों के बीच डिवोर्स की नौबत तक आ चुकी थी। पापा और मम्मी ने भैया को काफी समझाया लेकिन भैया भाभी के साथ बिल्कुल भी नहीं रह सकते थे और उन्होंने अपना पूरा मन बना लिया था कि वह भाभी को डिवोर्स दे देंगे। ना जाने उनके बीच किस बात को लेकर अनबन होने लगी थी जिससे कि उन दोनों का रिलेशन बिल्कुल भी नहीं चल पा रहा था। आखिरकार भैया ने भाभी को डिवोर्स दे दिया और उसके बाद वह विदेश लौट गए, भैया वहीं रहने लगे थे और वह घर भी नहीं आते थे भैया अमेरिका में ही रहते हैं उनकी सिर्फ हम से फोन पर ही बात हो पाती थी। भाभी भी कभी कबार मुझे फोन कर दिया करती थी लेकिन कुछ समय बाद भाभी के परिवार वालों ने उनका रिश्ता कहीं और तय कर दिया। यह बात सुनकर मुझे थोड़ा अटपटा सा लगा लेकिन मैंने जब भाभी से इस बारे में पूछा तो भाभी ने मुझे बताया कि वह अपनी जिंदगी में काफी अकेला महसूस कर रही हैं और उन्हें किसी की जरूरत है जो कि उनका साथ दे पाये, मैंने भाभी से कहा कि भाभी यह तो आप ठीक कह रही हो। भाभी को उनका जीवन साथी मिल चुका था और वह शादी करके अपना घर बसा चुकी थी लेकिन भैया ने शादी नहीं की थी और वह अकेले ही थे।

मैंने भैया से कई बार इस बारे में पूछा भी था लेकिन भैया थे कि बिल्कुल भी बात मानने को तैयार नहीं थे। मैं और भैया एक दूसरे से फोन पर तो बातें किया करते थे लेकिन भैया घर नहीं आए थे। इस बीच हमारे ऑफिस में काम करने वाली पायल के साथ मेरी नजदीकियां बहुत बढ़ने लगी थी पायल को मेरा साथ अच्छा लगने लगा था इस वजह से हम दोनों साथ में ही ज्यादा से ज्यादा समय बिताने लगे थे तो पायल इस बात से बहुत खुश थी। जब भी हम दोनों साथ में होते तो मेरी और पायल की बात अक्सर बहुत होती थी हम दोनों अकेले में भी काफी समय बिताया करते थे। एक दिन पायल ने मुझे कहा कि संजय क्या आज तुम मेरे साथ मेरी फ्रेंड की पार्टी में चलोगे तो मैंने पायल से कहा हां क्यों नहीं। मैं भला पायल को कैसे मना कर सकता था क्योंकि मैं पायल को चाहने लगा था मुझे पायल का साथ अच्छा लगने लगा था इसलिए मैं उसे मना नहीं कर पाया और उस दिन मैं पायल के साथ चला गया।

जब मैं पायल के साथ गया तो मुझे काफी अच्छा लग रहा था मैं काफी ज्यादा खुश था। पायल के साथ उस दिन पार्टी में मैंने खूब इंजॉय किया और जब हम लोग वापस लौटे तो मैं और पायल एक दूसरे के साथ काफी खुश थे। मैंने पायल को उसके घर तक छोड़ा और फिर मैं अपने घर लौट आया था। अपने घर लौटने के बाद जब पायल ने मुझे फोन किया तो मैंने पायल का फोन तुरंत उठाया और पायल से कहा कि पायल तुमने मुझे इतनी रात को फोन किया। पायल मुझे कहने लगी कि क्या मेरा इतना भी हक नहीं कि मैं तुम्हें फोन करूं मैंने पायल को कहा नहीं पायल ऐसी कोई बात नहीं है। मैंने और पायल ने एक दूसरे के साथ काफी देर तक बात की और उस दिन पायल ने जब मुझसे अपने प्यार का इजहार किया तो मुझे बहुत ही अच्छा लगा और मैं काफी ज्यादा कुछ भी हो गया था। पायल और मैं एक दूसरे के साथ अब रिलेशन में थे और हम दोनों का रिलेशन अच्छे से चल रहा था। हम दोनों एक दूसरे के साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताया करते थे और साथ में भी हम लोग घूमने के लिए जाया करते थे जिससे कि मुझे बहुत अच्छा लगता और पायल को भी बहुत खुश हो जाती थी। हम दोनों के बीच का प्यार इतना ज्यादा बढ़ चुका था कि मैं चाहता था की मैं अपने परिवार वालों से इस बारे में बात करूं लेकिन फिलहाल तो यह मुझे संभव होता हुआ दिखाई नहीं दे रहा था क्योंकि भैया की शादी भी अभी तक हो नहीं पाई थी और भैया भी अकेले थे। मैं सोचने लगा कि क्या मुझे इस बारे में घर पर बात करनी चाहिए या नही लेकिन फिर मैंने इस बारे में घर पर बात नहीं की। मैंने अपने भैया और भाभी के रिलेशन के बारे में पायल को बता दिया था जब मैंने पायल को इस बारे में बताया तो पायल ने मुझसे कहा कि लेकिन तुम्हारे भैया और भाभी के बीच में अचानक से किस बात को लेकर झगड़े शुरू हो गए जो उन दोनों ने डिवोर्स ले लिया। मैंने उस दिन पायल को बताया कि मुझे भी इस बारे में कुछ पता नहीं है कि उन दोनों के बीच किस वजह से झगड़े शुरू हो गए और उन दोनों ने क्यों एक दूसरे से अपने रिलेशन को खत्म कर लिया मुझे इस बारे में कुछ भी नहीं पता।

पायल ने मुझे कहा की अगर तुम्हारे भैया शादी नहीं करेंगे तो क्या हम दोनों भी शादी नहीं कर पाएंगे मैंने पायल को कहा नहीं ऐसा नहीं है लेकिन हम दोनों को थोड़े समय के लिए रुक जाना चाहिए और जब मुझे लगेगा कि मुझे पापा और मम्मी से बात करनी चाहिए तो मैं उन लोगों से बात कर लूंगा। पायल ने मुझे कहा कि ठीक है संजय जैसा तुम्हें ठीक लगता है। पायल को मुझ पर पूरा भरोसा था इसलिए वह मेरे हर फैसले का सम्मान करती थी और उसने अब यह बात मुझ पर ही छोड़ दी थी कि मुझे क्या करना चाहिए। मैं पायल के साथ रिलेशन में बहुत खुश था क्योंकि वह मेरी हर एक बातों को समझ लिया करती थी वह कभी भी मुझसे किसी बात को लेकर झगड़ती नहीं थी। मैं पायल के साथ बहुत खुश था और मुझे काफी ज्यादा अच्छा लगता था जब भी मैं और पायल साथ में होते थे। पायल और मेरा रिलेशन चल रहा था। एक दिन हम दोनों ने ऑफिस के बाथरूम में एक दूसरे को किस कर लिया। उस दिन मैं पायल को देखकर अपने आपको रोक ना सका और मैंने पायल के होठों को चूम लिया। पायल को भी यह बात बहुत ही अच्छी लगी उसके बाद पायल भी मेरे साथ सेक्स करने के लिए उतावली हो चुकी थी।

अब हम दोनों की फोन पर भी खूब गरमा गरम बातें हो जाया करती थी जिससे कि मुझे भी अच्छा लगता और पायल भी काफी ज्यादा खुश रहती थी। पायल चाहती थी मैं उसके साथ शारीरिक संबंध बनाऊ। एक दिन मैंने पायल से कहा क्यों ना हम लोग आज साथ में ही रुक जाएं। पायल अब इस बात के लिए तैयार हो गई थी लेकिन समस्या यह थी कि हम लोग कहां जाएंगे। मैंने अपने एक दोस्त की मदद ली उसे मैंने कहा कुछ देर के लिए मैं उसके घर का इस्तेमाल करना चाहता हूं। वह मुझे कहने लगा आज मैं अपने किसी रिलेटिव के घर चला जाऊंगा उसने मुझे घर की चाबी दे दी। जब उसने मुझे अपने घर की चाबी दी तो उसके बाद मैं और पायल एक दूसरे के बाहों में थे। हम दोनों को एक दूसरे की बाहों में बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा था और हम दोनों बहुत ज्यादा खुश भी थे। पायल मेरे साथ इतनी ज्यादा खुश हो गई थी कि वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है। जब मैंने पायल के होंठों को चूमना शुरू किया तो पायल एक पल के लिए भी रह नहीं पा रही थी वह मुझे कहने लगी मुझसे अब एक पल के लिए भी रहा नहीं जा रहा है। मैंने पायल को कहा रहा तो मुझसे भी नहीं जा रहा है मुझे बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा है। जब मैंने पायल के होंठो को चूम कर उसे पूरी तरीके से उत्तेजित कर दिया था तो पायल मुझे कहने लगी तुमने मेरे अंदर की गर्मी को पूरी तरीके से बढा कर रख दिया है। मैंने पायल को कहा मुझे तो बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा है और बहुत मजा आ रहा है। अब मैंने पायल की सलवार के अंदर से उसकी पैंटी को सहलाना शुरु किया। जब मेरा हाथ पायल की चूत पर लगा तो मुझे अच्छा लगने लगा था। पायल की चूत से पानी निकलने लगा था और मेरे अंदर की आग बढने लगी थी। मैं समझ चुका था मैं रह नहीं पाऊंगा इसलिए मैंने पायल के बदन से कपड़े उतार कर उसकी चूत को सहलाना शुरू किया।

पायल के अंदर की गर्मी को मैं पूरी तरीके से बढा चुका था। पायल को बहुत ही ज्यादा अच्छा लग रहा था जब मैं उसकी चूत का मजा ले रहा था। उसकी चूत को चाटकर मैंने पूरी तरीके से गिला बना दिया था। अब पायल रह नहीं पाई। पायल ने कहा मुझसे बिल्कुल रहा नहीं जाएगा मैं तुम्हारे लंड को अपने मुंह में ले लेती हूं। पायल ने मेरे मोटा लंड को अपने मुंह के अंदर सामा लिया और वह उसे चूसने लगी। जब वह ऐसा कर रही थी तो मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था। पायल को भी बहुत ही ज्यादा अच्छा लग रहा था। पायल की चूत से कुछ ज्यादा ही पानी बाहर निकलने लगा था इसलिए मैंने पायल की चूत के अंदर अपने लंड को डाल दिया था। जैसे ही उसकी योनि के अंदर मेरा लंड प्रवेश हुआ तो वह जोर से चिल्लाकर मुझे बोली मेरी चूत में दर्द हो रहा है।

मैंने पायल को कहा मुझे मजा आ रहा है। अब मैंने पायल के दोनों पैरों को ऊपर उठा लिया था जब मैंने देखा पायल की चूत से खून निकल रहा है तो वह मुझे कहने लगी मुझसे बिल्कुल भी रहा नहीं जा रहा है। मैने पायल से कहा मुझे बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा है। पायल की चूत का मजा लेने मे मुझे बहुत ज्यादा मजा आ गया था मैं पूरी तरीके से उत्तेजित हो गया था। मैंने पायल की चूत के अंदर अपने माल को गिरा दिया था जब मैंने पायल की योनि में अपने माल को गिराया तो वह मुझे कहने लगी तुमने आज मेरी चूत मे पूरी तरीके से दर्द कर दिया है। मैंने पायल को कहा मैं तुम्हें दोबारा से चोदना चाहता हूं। पायल मुझे कहने लगी तुम्हे जैसा करना है वैसा कर लो। मैंने पायल को अपने ऊपर आने के लिए कहा। पायल ने मेरे लंड को अपनी योनि में ले लिया। वह अपनी चूतडो को ऊपर नीचे करती जा रही थी। पायल को बहुत ज्यादा मजा आ रहा था और मुझे भी बहुत ज्यादा मजा आने लगा था जिस तरह से मैंने उसके साथ सेक्स किया। मैने अपने माल को गिरा दिया था पायल बहुत ज्यादा खुश हो गई थी।

Best Hindi sex stories © 2017