Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

बिलिंग होती रहेगी पहले चुदाई हो जाए

Hindi sex story, antarvasna बिलिंग वाली लड़की को दो लडको ने पटा के जम के चोदा और उसके बाद जब मुझे पता चला तो मैंने भी उस लड़की को बहुत चोदा |

दोस्तों मेरा नाम सूरज है और मैं भोपाल का रहने वाला हूँ लेकिन मैं जबलपुर मैं रहता हूँ अपनी नानी के यहाँ दोस्तों मेरे परिवार में मैं और मेरे मम्मी पापा हैं और वो दोनों गाँव में रहते हैं | मेरा गाव तेवरी है जो कि स्लिमिनाबाद कटनी जिले में पड़ता है | दोस्तों मैं तो वैसे ही चुदक्कड रहा हूँ जहाँ मुझे चूत दिखती वहां मैं घुस जाता हूँ | पर मैं एक जगह काम करता हूँ वहां पर किसी लड़की को काम पे रखना सख्त मना है | हमारे गोलू भैया भी मस्त इंसान हैं और वो हम लोगों के लिए कुछ न कुछ करते रहते हैं | हम सब लोगों को उनके साथ काम करने में बड़ा आनंद आता है | इसलिए हम सब उनके साथ काम करते हैं | दोस्तों ये बात तब की है जब एक लड़की खुद ही भैया के पास आई और उसने पुछा सर कोई जॉब है क्या ? गोलू भैया को पता था अपने यहाँ सारे लड़के आते हैं इसलिए लड़की को रखना खतरे से खाली नहीं है इसलिए उन्होंने उसे मना कर दिया |

पर दोस्तों उनसे एक गलती हो गयी और वो गलती थी कि भैया ने उस लड़की को अपना कार्ड दे दिया था | अब वो लड़की भैया को रोज़ फोन करने लगी और कहने लगी सर प्लीज आपका ऑफिस पास में है आप मुझे कुछ भी काम दे दीजिये | भैया ने उसको कई बार मना किया पर वो फिर भी चिपक रही थी | एक दिन भैया ने तरस खाकर उस लड़की से कह दिया ठीक है आप कल से आ जाना पहले आपको काम सिखा देंगे फिर उसके बाद आप अगर कर सकते हो तो करना नहीं तो कोई बात नहीं | उसने कहा ठीक है सर मैं आ जाउंगी कल से | भैये ने ये बात हम सब को बताई जो भी ऑफिस में थे | सब साले ठरकी और मैंने भी बोल दिया भैया बुला लो अपन उसको काम सिखा देंगे | भैया बोले बेटा वो किसी एक का काम खा जाएगी तो पहले ही सोच लो | सब कहने लगे भैया आप एक बार बुला तो लो और फिर भैया हसने लगे | भैया बोले सालों मैं समझ रहा हूँ तुम लोग ऐसा क्यूँ बोल रहे हो और उसके बाद गोलू भैया चले गए |

अगले दिन जब वो लड़की आई तो हमने देखा साली एक दम सूखी साखी पर उसके दूध अच्छे थे और उसकी गांड थोड़ी पिचकी हुई थी | पर अपने को क्या करना था अपन को तो बस उसकी चूत से मतलब था | अब मैं उसको काम सिखाने लगा और सारे लड़के उसको पटाने में लग गए | चार दिन बाद मैं दो दिन की छुट्टी लेके अपने गाँव क्या गया कि वहां ऑफिस में पूरा नज़ारा ही बदल चुका था | उस लड़की ने मेरी जगह लेली थी और भैया ने मुझसे कहा तुम बताके नहीं गए इसलिए अब पूरे महीने की छुट्टी पे जा और मैडम अब काम करेगी | मैंने मन में सोचा साली कुतिया ने मेरा ही काम खा लिया | फिर मुझे पता चला कि भैया हमेशा सही होते हैं और उनकी बात माननी चाहिए | पर अब क्या कर सकते थे अब तो जो होना था वो हो चुका था | इसलिए मैंने सोचा ठीक है मैं ऑफिस में कुछ और काम लूँगा क्यूंकि वहां पर काम की कमी नहीं है | अब मैं भैया से बात करने के लिए गया अगले दिन और कहा भैया वो स्टोरी वाला काम मुझे दे दो मैं करूँगा |

भैया ने कहा ठीक है लेले पर बिलिंग तो अब तू अगले महीने से ही करेगा | मैंने भी हाँ कर दिया क्यूंकि मुझे पैसे चाहिए थे और मुझे उस ऑफिस से काम नहीं छोड़ना था | इसलिए मैं वहां चिपका रहा लेकिन जब मैं दो दिन बाद वहां पहुंचा तो मैंने विनय दाहिया (नेवला) और सुनील (मटोले) दोनों अब रोज़ ऑफिस आने लगे थे बिल बनवाने के लिए | मैंने उन दोनों से पूछा कि भाई जब मैं था तब तो तुम लोग हफ्ते में एक आदि बार आते थे अब ऐसा क्या हुआ कि रोज़ रोज़ आने लगे हो ? नेवला बोला भाई सेठ ने हम लोगो को चिल्लाया है कि अगर रोज़ बिल नहीं बनेंगे तो मैं तुम लोगों की पगार काटूँगा | मैंने मन में सोचा हां भोसड़ीवालों पता है कैसी पगार काटने वाली है | वो दोनों मैडम के आजू बाजू बैठ जाते और मटोले तो कुछ ज्यादा चिपक के बैठता था | मैडम भी काम में मस्त रहती थी और उसे कोई दिक्कत नहीं होती थी | मैं समझ गया बड़ा ये लोग इसको पटाने में लगे हुए हैं और इसकी चूत चाहिए इन लोगों को |

पर मुझे समझ नहीं आ रहा था कि ये साले न शकल के न सूरत के फिर भी ये लड़की इन लोगों से बात कर रही है और वो भी हँस हँस के | साला पता नहीं क्या हो गया है ज़माने को | आजकल काले कलूटे लडको के साथ अच्छे गोर चिकने माल घुमते हैं और स्मार्ट लडको को कोई देखता ही नहीं | पता नहीं क्या चल रहा है बहनचोद कभी कभी गुस्सा आती है खुद पर | हफ्ते बीतने लगे और नेवला और मटोले लड़की के साथ अच्छे से घुल मिल गए | फिर एक दिन मैडम काम पर नहीं आई मैं ऑफिस में था और गोलू भैया किसी काम से कटंगी गए थे | मैडम आई और कहने लगी सर नहीं आये क्या तो मैंने कहा नहीं थोड़ी देर से आएँगे | तो मैडम ने कहा आप सर से बता देना कि मैं आज नहीं आउंगी | मैंने कहा ठीक है मैं बता दूंगा भैया को | वो चली गयी और उसके बाद मैं अपना काम करने लगा स्टोरी वाला | मैं काम कर रहा था और उतने में मुझे बात याद आई कि एक लड़का अपनी सेटिंग को लेके चोदने गया और पकड़ा गया | फिर पता चला कि उन दोनों ने स्कूल से गोल मारा था |

मैं समझ गया और मैंने तुरंत गोदाम में फ़ोन लगाया और पूछा आज मटोले और नेवला आये हैं क्या तो वहां काम करने वाले दादा ने बताया नहीं वो लोग आज छुट्टी पर हैं | मुझे समझते देर न लगी आज क्या होने वाला है | मैं तुरंत ऑफिस में ताला लगाके बाहर निकला और मैडम को देखने लगा | मैडम पैदल जा रही थी इसलिए वो मुझे बिरसा मुंडा तिराहा के पास दिख गयी | मैं उसका पीछा करने लगा और उसके पीछे पीछे मैं दमोह्नाका तक पहुँच गया | फिर मैंने देखा मटोले और नेवला उसके पास आये और उसे मडोना होटल ले गए | मैं गाडी लगाके अन्दर गया और मैंने भैया को बुला लिया | मैंने कहा भैया जल्दी आना और मैंने वहां पैसे दे दिए और कहा इनको जो करना है करने दो पर हमे कैसे भी उस रूमे में देखने का जरिया बताओ | उन लोगों ने पैसे लिए और कहा सर पीछे से खिड़की है वहां से सब दिख जाएगा | इतने में भैया भी आ गए और मैंने कहा भैया चुदाई होने वाली है बिलिंग वाली मैडम की और नेवला और मटोले इसको चोदेंगे |

भैया ने कहा ठीक है आज तू भी इसको रेंज हाथ पकड़ना और चोदना और इसके बाद इसको काम से निकाल देंगे पैसे देकर | मटोले और नेवला की भी गांड मारेंगे साले मेरे ऑफिस में ऐसा काम करेंगे | उसके बाद हु लोगो ने देखना शुरू किया तो मटोले मैडम को नागा कर रहा था और नेवला अपने कपडे रहा था | नेवला का काला लंड खड़ा हुआ था और काफी बड़ा था | मैडम ने नेवला का लंड पकड़ा और हिलाने लगी और नलवा मैडम को किस करने लगा | मटोले ने भी अपने कपडे उतार दिए और मटोले का लंड छोटा सा था | मैडम और नेवला दोनों हसने लगे मटोले का लंड देखकर | उसने कहा

“मादरचोद इस लंड से तेरी चूत फाड़ दूंगा अब बोल”

नेवले ने बोला आई लाब यू मटोले

फिर दोनों मैडम के नंगे जिस्म पर अपने हाथ लगाने लगे | मटोले ने मैडम के दूध पकड़ लिए और नेवला मैडम की गांड चाटने लगा दबा दबा के | उसने बाद मटोले ने मैडम के दूध चूसना शुरू किया और नेवला तो मैडम की गांड में घुसा जा रहा था | उसके बाद मैडम ने मटोले से कहा आज मैं इस प्यारी सी छोटी सी नुन्नु को चूस चूस के लाल कर दूंगी | मटोले ने कहा लेले मुंह में अब बोल | मैडम ने उसकी लुल्ली को एक बार में ही मुंह के अन्दर भर लिया और मटोले मचलने लगा | मटोले को केवल दो मिनट हुए होंगे और उसका माल निकल गया जो मैडम के मुंह में भर गया | मैडम ने कहा भोसड़ी के चुदाई आती नहीं तो करता क्यूँ हैं | अब विनय ने मैडम को पकड़ा और कहा ले साली अब मेरा मुंह में ले और मैडम ने उसका लंड अपने मुंह में भर लिया | उसका लंड बड़ा था इसलिए एक बार में अन्दर नहीं गया और मदमुसको अच्छे से चूसने लगी | मटोले मैडम की बालों वाली चूत को चात्न्हे लगा और मैडम सिस्कारियां लेने लगी | मटोले मैडम की चूत चाट चाट के सारा पानी पी रहा था | फिर हमने देखा उसने अपनी एक ऊँगली मैडम कीट में डाली और ऊँगली से छोड़ते हुए उसकी चूत को चाटने लगा | मैडम को भी मज़ा आ रहा था और वो जोर जोर से नेवले के लंड को चूसने लगी |

उसके बाद नेवले ने मैडम को बोला चल अब तुझे अच्छी सैर करवाता हूँ और मटोले से कहा चल बे चूत चाटना बंद कर और मैडम की चूत चोदने दे | नेवले ने अपना लंड मैडम की चूत में भर दिया और जोर जोर से चोदने लगा | मैडम सिसकियाँ क्लेते हुए चुदवाने लगी | मटोले मैडम के दूध बस पी रहा था क्यूंकि उसकी लुल्ली गांड के छेद तक पहुँच ही नहीं पा रही थी | लेकिन मटोले हरामी था वो मादरचोद मैडम की गांड में ऊँगली करने लगा और इस चीज़ से मैडम और तेज़ चिल्लाने लगी | फिर नेवले ने मैडम की गांड को अपना शिकार बनाया और उसकी गांड में अपना लंड एक बार में पेल दिया और मैडम चीख पड़ी | पर नेवला कहाँ रुकने वाला था वो धडाधड चोदते जा रहा था | अब मटोले को मौका मिल गया तो उसने भी अपनी छोटी लुल्ली मैडम की चूत में दाल दी और चोदने लगा | दोनों ने मैडम को करीब आधे घंटे तक चोदा और झड़ गए उसके अन्दर | उसके बाद गोलू भैया कमरे में घुस गए और सब की गांड मार ली | उस दिन मैंने एक मर्द को दुसरे मर्द की गांड मारते हुए देखा | जहा विनय और मटोले एक दुसरे की मार रहे थे डर के कारण |

Best Hindi sex stories © 2017
error: