Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

और ना तड़पा राजा

hindi porn stories बाबा अक्सर कहा करते थे,”जो बिस्तर पर जबान देते है”,
वो अक्सर बदल जाते है।।

कम्मो:- मालिक ऐसा नहीं है।।
मेरे हुस्न के जलवे किसी से कुछ भी करा सकते है।।

मै:- फिर तो तेरी किसी असली मर्द से मुलाकात नहीं हुई है।।

कम्मो:- एक बार आप ही मौका दे मालिक:-

मैं:-“हमारे पजामे का नाड़ा इतना ढीला नहीं है”,
जो तेरे ब्लाउज के दो हुक पर खुल जाए।।।

मै गुस्से से कम्मो के कोठे से बाहर आया,बाहर वो बेचारी औरत फुट-2 कर रो रही थी,इसके पति इस कमीनी कम्मो के चक्कर में जो फंस गया था।।

और वो कहते है ना की औरत एक ऐसा नशा है की जब सर चढ़ जाए तोह नशे को भी पीछे छोड़ देती है।।

बिमला:- मालिक मेरा पति।।

मै:- तुम फिक्र मत करो,सरला मैंने कम्मो को समझा दिया है।।
अब अगर तेरा पति उसके पास गया भी तो वो उसे भगा देगी।।

बिमला:- धन्यवाद मालिक।।

अब आप सब ये सोच रहे होंगे की बात क्या है, दरअसल बिमला के पति ने उसके हुस्न के जलवे पर फ़िदा होकर अपनी जमीन उसके नाम करने की जुबान दे गया।।

पर वो भूल गया की उसका घर उस जमीन के आसरे ही चलता है।।

मैं घर जा ही रहा था की मुझे मोहन मिल गया।।

मोहन:- अरे आदि तुम।।
यहाँ गाँव में कैसे वो भी पैदल।।

मैं:- कुछ नहीं मोहन बस एक काम पूरा करना रह गया था।।
मोहन मेरा अच्छा दोस्त था।।

मोहन:- भाई वो सरला ताई का कुछ कर यार मेरा मूड ख़राब कर रखा है, जब देखो तुझे याद करती रहती है।।

मै:- क्यों तू नहीं संभाल पा रहा है क्या।।
बाबा कहा करते थे ,की मंदिर की घंटी और सेक्सी आंटी को कभी छोड़ने का नहीं,उन्हें सजा के रखने का।।
तभी उन्हें बजने में मजा आता है।।

मोहन:- मैं समझ गया की अब क्या करना है।।

मैं:- चलो आज सरला ताई से मिल ही लेते है।।

और फिर मै पहुँचा सरला ताई के घर।।
उसका पति तो पी के कही पड़ा होगा,अपनी बीवी को अकेला छोड़।।
मैंने देखा ताई कुछ काम कर रही थी।।

मै सरला ताई के बाहो को पकड़ते हुए उन्हें खड़ा कीया और जबरदस्ती अपने गले लगते हुए बोला.!

मै:- अरे ताई,आप इतना घबरा क्यों रही हैं, हम तो आपके अपने हैं!
मैंने उनकी पीठ सहलाते हुए बोला!

वो मेरे बाहो में कसमसा रही थी.!

फिर मैं अपना हाथ निचे ले जाते हुए उनके बड़े-2 गांड पे रख दिया और उन्हें दबाने लगा!

और तो और उन्हें अपने से बिल्कुल कस के सटा लीया,और अपने होंठ उनके होठो पे रख दिया.!

अभी में कुछ और करता की इससे पहले ताई ने मुझे धक्का दे दिया.!

मै:- क्या ताई,मुझे धक्का क्यों दीया,क्या मुझसे कोई गलती हो गयी.!
में फिरसे सरला ताई के ओर बढ़ते हुए बोला.!

सरला ताई:- छोटे मालिक आप तो हमे भूल ही गए है।।

पर मैंने उनकी बात अनसुनी करते हुए उन्हें फिरसे अपने गले लगा लिया.!

और जब मैंने ताई की ये बात सुनी,तो मै समझ गया साली थोडा भाव खा रही हैं.!

फिर मैंने और देर ना करते हुए सरला ताई के साडी के पल्लू को निचे गिरा दिया और उसके ब्लाउज में कैद बड़े-2 चुचियो को दबाने लगा.!

सरला ताई तो किसी जल बिन मछली के तरह तड़पने लगी.!
वो बहोत ही मादक-2 आवाजे निकाल रही थी.!

सरला ताई:- अअअअह.आआआआहहहह.!
ओह्ह्ह्ह्ह्ह.ह्म्म्म.उफ्फ्फ.
हां मेरे राजा ऐसे ही दबाओ.!

फिर मैंने उनके ब्लाउज को खोल दिया और उनकी नंगी बड़ी-2 गोरी चुचियो को दबा-2 के चूसने लगा.!

फिर मैंने एक-2 करके उनकी दोनों चुचियो को निचोड़ डाला.!

फिर में उनके होंठो पे टूट पड़ा,और किसी जानवर की तरह उनके होंटो को काटने लगा.!

धीरे-2 में निचे आया और उनकी सुराहीदार नाभि में अपना जीभ घुसा दिया.!

ताई की तो जॉन ही निकल गयी मेरे इस हरकत से.!

ताई:- हां,मेरे राजा,तू तो बड़ा खिलाडी निकला.
अगर मुझे पता होता की तू ऐसा हैं तो मै कबका तेरे हो जाती.!

अब और ना तड़पा मेरे राजा,अब तो चोद दे अपनी रंडी को.!

फिर क्या था मैंने ताई क बचे कूचे कपडे भी उतार दिए और खुद भी नंगा हो गया.!

फिर मैं टाई की चूत की तरफ अपना हाथ घुमाया.!

ताई की एक मादक आआह्ह्ह निकल गयी.!

मैंने देखा की उसके चूत पे हलके-2 बाल थे.!
में अपनी जीभ से उसकी चूत कुरेदने लगा.!

ताई:- ओइह्ह्ह्ह्ह्.हम्म्म्म्म.हसास्स्स.
हां ऐसे ही,उम्म्म्म.!

मै अपना पूरा जीभ ताई के चूत मे घुमा रहा था.!
फिर में उथा और अपना कच्छा उतार दिया और अपने खड़े लंड की तरफ ताई को झुका दिया.!

ताई:- कितना बड़ा है रे तेरा.!
जितनी बार लो उतनी बार बड़ा लगता है।
आज तो मजा आ जायेगा,और इतना बोल उसने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया.!

कुछ देर धीरे चूसने के बाद वो मेरा लंड अपने मुह से निकालने लगी पर मैंने जबरदस्ती उसका सर पकड़ के जोर-2 से उसके मुँह में अपना तगड़ा लंड पेलने लगा.!

कुछ देर बाद उसने मुझे पूरा जोर लगाके हटाया,और जोर-2 से खाँसने लगी.!

अभी वो कुछ बोलती की मै अपना लंड उसके गांड पे रखके तुरंत एक जोरदार झटका मारा की मेरा पूरा लंड उसकी गांड में चला गया.!

ताई की आँखे बिल्कुल बड़ी हो गयी और तो और उसकी आँखों से आँसूं आ गया.!

ताई:- मार डाला रे,मर गयी मै.!
धीरे-2 नहीं डाल सकता था क्या.!

पर में बिना उसकी बातो का ध्यान किये लगातार तेज-2 धक्के मारे जा रहा था.!

पूरे वातावरण में बस ताई की चिल्लाने और मेरे धाक्को की आवाज आ राही थी.!

ताई:- आअह्हह्हह…ओह्ह्ह्ह्ह्ह.उम्म्म्म्म्म्म्म.ह्म्म्म्म.
हाआआ.
आआआआआःह्ह्ह्ह्.!

और एक तेज आवाज के। साथ ताई झड़ गयी.!

पर मैं तब भी धक्के मारता गया और करीब 40 मिनट चोदने के बाद झड़ गया.!

मेरे झड़ते ही ताई एक और बार झड़ गयी.!

मैं थक कर उसके ऊपर गिर गया.!

कुछ देर बाद उठा और कपडे पहन के, में आखिरी बार ताई को चूमा.!

मै:- कल तेरा इनाम तेरे घर पाहूंचवा दूंगा.!

इतना बोलकर मै घर की ओर बढ़ गया.!
इस बात से बेखबर की घर पर एक बौछाल मेरा इन्तेजार कर रहा है..!

Best Hindi sex stories © 2017